इलेक्ट्रिक कार क्या है ? What is Electric Car

इलेक्ट्रिक कार

हेलो दोस्तों स्वागत है आप सभी का एक और नयी पोस्ट में क्या आप जानते हैं इलेक्ट्रिक कार क्या है ? ऑटोमोबाइल क्षेत्र में लगातार टेक्नोलॉजी में बदलाव आ रहा है । और समय से साथ साथ विश्व में जितनी भी कार निर्माता कंपनियां हैं जो कारों में नयी टेक्नोलॉजी का विकाश कर रहे है । इसी में एक बदलाव है । ईंधन आप सभी भली भाँती से जानते हैं कि ज्यादातर गाड़ियां पैट्रोल और डीजल से चलती हैं ।

इलेक्ट्रिक कार क्या है ?

आप सभी अच्छे से जानते हैं । कि दुनिया में अलग अलग प्रकार की कार कई प्रकार के ईंधनों से चलती है । जैसे पैट्रोल , डीजल , C.N.G, इनके अलावा कई कार बिजली से चलती हैं । जिन्हें इलेक्ट्रिक कार के नाम से जाना जाता है । सामान्य शब्दों में कहा जाये तो एक इलेक्ट्रिक कार एक बैटरी से पावर प्राप्त करके चलती है । I.C इंजन के मुकाबले इस प्रकार के वाहनों में ईंधन उत्सर्जन नहीं होता है । जो की पर्यावरण के अनुकूल है । साथ ही इस प्रकार के वाहनों में नॉइस भी न के बराबर होती है ।इस कार में रिजनेरेटिंग ब्रेकिंग सिस्टम का प्रयोग किया जाता है । जब भी गाडी चलाते समय acceleration पैडल को छोड़ा जाता है । उस समय ये सिस्टम एक्टिव होकर बैटरी को चार्ज करने में मदद करता है।एक इलेक्ट्रिक कार में मुख्य चार पार्ट्स होते हैं बैटरी , इंडक्शन मोटर ,इसके साथ ही इसमें इन्वर्टर का प्रयोग भी किया जाता है । जो कि गाड़ी की गति को कंट्रोल करता है । इलेक्ट्रिक कार में ये एक मुख्य भाग है ।इसके साथ ही इसमें थ्री फेस इंडक्शन मोटर A.C का प्रयोग भी किया जाता है ।

हाइड्रोजन फ्यूल क्या है ? what is hydrogen fuel

ELECTRIC कार काम कैसे करती है ?

आप सभी अच्छे से जानते हैं कि सामान्यतः  गाड़ी को चलाने के लिए पावर की जरूरत होती है । और वो पावर हमे सामान्यतः गाड़ी में लगे इंजन से मिलती है । जिस पावर का प्रयोग हम गाड़ी में लगे पहियों को घुमाने के लिए करते हैं । पर इलेक्ट्रिक कार में ऐसा नहीं होता है । इसमें गाड़ी को पावर देने के लिए बैटरी का प्रयोग किया जाता है और ये बैटरी वजन में काफी ज्यादा होती है । ये बैटरी कार के चेसिस में बराबर लगायी जाती है । इलेक्ट्रिक कार के चेसिस को बहुत ही ध्यान में रखकर बनाया जाता है । चलिए इलेक्ट्रिक कार के मुख्य भाग के बारे में जानते हैं –

बैटरी – एक इलेक्ट्रिक कार में बैटरी का प्रयोग कार को चलाने के लिए किया जाता है । ये बैटरी लिथियम आयन से बनी होती हैं । ये एक सामान्य लिथियम आयन बैटरी होती हैं । जो आमतौर पर हर जगह प्रयोग की जाती हैं । इलेक्ट्रिक कार में कई सारी सेल को एक श्रंखला में जोड़ा जाता है । बहुत सारे सेल्स में से एक इंटरनल ट्यूब निकलती है । जिसमें कूलेंट रहता है । जिससे बैटरी का तापमान कंट्रोल रहता है । और गर्म होने पर भी बैटरी सही से काम कर सके   एक इलेक्ट्रिक कार में बैटरी को कार के नीचे लगाया जाता है । जिसके कारण कार को स्थिरता मिलती है ।

इन्वर्टर – चलिए जानते हैं कि इन्वर्टर का इलेक्ट्रिक कार में क्या काम होता है । इसे इलेक्ट्रिक कार का दिमाग भी कहा जाता है ।  इन्वर्टर बैटरी से आये डी सी  करंट को ए सी करंट में बदलता है । और इस पावर को इंडक्शन मोटर तक पहुंचाता है । साथ ही इन्वर्टर बैटरी की पावर को स्टोर करता है । और गति के अनुसार इंडक्शन मोटर तक पहुंचाता है । क्यूंकि इन्वर्टर ए सी पावर को कंट्रोल करता है । जब भी गाड़ी की गति को घटाया या फिर बढ़ाया जाता है । तो फ्रीक्वेंसी को भी कम ज्यादा किया जाता है ।

इंडक्शन मोटर – इंडक्शन मोटर का अविष्कार निकोला टेस्ला ने किया था । एक इंडक्शन मोटर सामान्यतः दो भागों से मिलकर बना होता है । वो होते हैं स्टेटर और रोटर इसमें स्टेटर को 3 फेज़ में ए सी इनपुट दिया जाता है । इससे ये होता है । कि कोइल में rotating ,मैग्नेटिक, फील्ड जनरेट होती है । जो कि रोटर के कंडक्टिंग बार को घुमाती है । जिससे इलेक्टिसिटी जेनेरेट होती है । इंडक्शन मोटर की फ्रीक्वेंसी मुख्यतः ए सी पावर की फ्रीक्वेंसी पर निर्भर होती है ।

क्या इलेक्ट्रिक कार में गियरबॉक्स का प्रयोग किया जाता है ?

एक इलेक्ट्रिक कार में पावर को इंडक्शन मोटर से पहियों तक पहुँचाने के लिए कार में गियर बॉक्स का प्रयोग किया जाता है । मोटर गियर बॉक्स से जुडी होती है । और इसमें सिर्फ दो गियर का प्रयोग किया जाता है । ड्राइव गियर और रिवर्स गियर गियर लीवर को शिफ्ट करके रिवर्स और ड्राइव किया जा सकता है । इसमें गियर बॉक्स का मुख्य कार्य होता है अधिकतर टार्क जेनेरेट करना जिससे ज्यादा पावर मिल सके इसमें गियर बॉक्स और पहियों के बीच में डिफ्रैंटिअल का प्रयोग किया जाता है

मैगनेटो इगनीशन सिस्टम क्या है ? और कैसे कार्य करता है

क्या इलेक्ट्रिक कार में इंजन होता है ?

एक इलेक्ट्रिक कार में इंजन के स्थान पर इंडक्शन मोटर का प्रयोग किया जाता है । जो कि इन्वर्टर के माध्यम से बैटरी से पावर लेता है । और पहियों तक पावर को गियर बॉक्स के माध्यम से पहुंचता है ।

इलेक्ट्रिक कार कितने प्रकार की होती हैं ?

इलेक्ट्रिक कार को दो भागों में बांटा जा सकता है । जो निम्नलिखित हैं –

बैटरी इलेक्ट्रिक व्हीकल  –

इसको BEV के नाम से भी जाना जाता है । इस प्रकार के वाहनों को एक्सटर्नल प्लग के माध्यम से चार्ज किया जाता है । इनमे किसी अन्य प्रकार के फ्यूल का प्रयोग नहीं किया जाता है । ये सिर्फ बैटरी पर निर्भर होते हैं ।

 

हाइब्रिड इलेक्ट्रिक व्हीकल –

इस प्रकार के वाहनों को HEV  के नाम से भी जाना जाता है । इनमे इंडक्शन मोटर के साथ इंटरनल COMBUSTION  इंजन का प्रयोग भी किया जाता है । यदि अगर किसी स्तिथि में बैटरी पावर ख़त्म हो जाती है । तब उस समय में इंजन फ्यूल से शुरू होता है । इसमें पावर इंजन से सीधे मोटर तक नहीं जाती है । उसके लिए इसमें जनरेटर का प्रयोग किया जाता है । जब इंजन शुरू होता है । तो पावर जनरेटर बैटरी को चार्ज करता है । और पावर बैटरी के माध्यम से मोटर तक जाती है ।

इलेक्ट्रिक कार को चार्ज करने में कितने समय लगता है?

एक इलेक्ट्रिक कार को चार्ज होने में लगभग  7 से 8 घंटे का समय लग सकता है । जबकि फ़ास्ट चार्जिंग पोर्ट से लगभग 1 से 2 घंटे का समय लग सकता है ।

इलेक्ट्रिक कार के लाभ –

ये कार पर्यावरण की दृष्टि से लाभदायक हैं । क्यूंकि इसमें प्रदूषण नहीं होता है । क्यूंकि इसमें जीवाश्म ईंधन का प्रयोग नहीं होता उसके स्थान पर बैटरी का प्रयोग किया जाता है ।

इलेक्ट्रिक कार के नुक्सान

आप सभी अच्छे से जानते हैं कि इलेक्ट्रिक कार वर्तमान समय में ज्यादातर नहीं है । और इनके चार्जिंग स्टेशन भी कम हैं । जिस कारण चार्ज करने में समस्या हो सकती है । और अधिकतर दूरी के लिए भी सही नहीं हैं । क्यूंकि इनके चार्जिंग स्टेशन बहुत कम हैं । जिससे स्टेशन ढूंढने में समस्या हो सकती है ।

आपने क्या सीखा ?

इस पोस्ट में आपने जाना कि इलेक्ट्रिक कार क्या है ? और ये कैसे काम करती है । अगर आपको ये पोस्ट पसंद आयी हो तो अन्य लोगों से भी साझा करें और अपने सुझाव हमें कमेंट बॉक्स में भेजें और हमें FACEBOOK और INSTAGRAM पर जरूर फॉलो करें 

धन्यवाद

Please follow and like us:

Leave a Comment

Your email address will not be published.